Best Sad Shayari



पेहले इश्क फिर ददॆ
फिर बेहद नफरत,
बड़ी तरकीब से तबाह
किया तूने मुझको ।
Pehle Ishq Phir Dard
Phir Behad Nafrat,
Badi Tarkib Se Tabah
Kiya Tune Mujhko.


मुस्कुराते पलको पे सनम चले आते हैं,
आप क्या जानो कहाँ से हमारे गम आते हैं,
आज भी उस मोड़ पर खड़े हैं,
जहाँ किसी ने कहा था कि ठहरो हम अभी आते हैं ।
Muskurate Palkon Pe Sanam Chale Aate Hai,
Aap Kya Jaano Kahan Se Hamare Gam Aate Hai,
Aaj Bhi Uus Mod Par Khade Hai,
Jahan Kisi Ne Kaha Tha Ki Tehron Hum Abhi Aate Hai. 



उन्हें फिर से मनाने को दिल करता है
पर कम्बखत अब वो रूठती भी हैं तो किसी और से ।
Unhe Phir Se Manane Ko Dil Karta Hai
Par Kambakhat Ab Wo Roothti Bhi Hai Toh Kisi Aur Se. 




मुझे कुछ अफ़सोस नहीं के मेरे पास
सब कुछ होना चाहिए था,
मैं अस वक्त भी मुस्कुराता था
जब मुझे रोना चाहिए था ।
Mujhe Kuch Aafsos Nahi Ke Mere Paas
Sab Kuch Hona Chahiye Tha,
Main Uus Waqt Bhi Muskuraya Tha
Jab Mujhe Rona Chahiye Tha. 



Best Sad Shayari






रेहते हैं आस पास ही
लेकिन साथ नहीं होते,
कुछ लोग जलते हैं मुझसे
बस खाक नहीं होते ।
Rehte Hai Aas Paas He
Lekin Saath Nahi Hote,
Kuch Log Jalte Hai Mujhse
Bas Khaak Nahi Hote. 




इश्क़ ने हमे बेनाम कर दिया,
हर खुशी से हमे अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा की हमे भी मोहब्बत हो
लेकिन आप की एक नज़र ने हमे नीलाम कर दिया ।
Ishq Ne Hame Benaam Kar Diya,
Har Khushi Se Hame Anjaan Kar Diya,
Humne Toh Kabhi Nahi Chaha Ki Hume Bhi Mohabbat Ho
Lekin Aap Ki Ek Nazar Ne Hame Nilaam Kar Diya. 




बस एक  चेहरे ने तन्हा कर दिया हमें
वरना हम खुद एक महेफिल हुआ करते थे ।
Bas Ek Chehre Ne Tanha Kar Diya Hame
Warna Hum Khud Ek Mehfil Huwa Karte The. 




रोज़ आता है मेरे
दिल को तस्सली देने,
ख़्याल ऐ यार को
मेरा ख्याल कितना है ।
Rooz Aata Hai Mere
Dil Ko Tasalli Dene,
Khayal A Yaar Ko
Mera Khayal Kitna Hai. 


सोचा था इस कदर उनको भूल जाएँगे,
देख कर भी अनदेखा कर जाएँगे,
पर जब जब सामने आया उनका चेहरा,
सोचा इस बार देखलें, अगली बार भूल जाएँगे ।
Socha Tha Iss Kadar Unko Bhool Jayenge,
Dekh kar Bhi Andekha Kar Jayenge,
Par Jab Jab Samne Aaya Unka Chehra,
Socha Iss Baar Dekhle, Agli Baar Bhul Jayenge. 




एक खुबसूरत सा रिशता यूं ही खत्म हो गया
हम दोस्ती निभाते निभाते उनसे इश्क कर बैठे ।
Ek Khubsurat Sa Rishta Yun He Khatam Ho Gaya
Hum Dosti Nibhate Nibhate Unse Ishq Kar Baithe. 




हमारे चले जाने के बाद,
ये समन्दर भी पूछेगा तुम से,
कहा चला गया वो शख्स
जो तन्हाई मे आ कर
बस तुम्हारा ही नाम लिखा करता था ।
Hamare Chale Jaane Ke Baad,
Yeh Samandar Bhi Puchega Tum Se,
Kahan Chala Gaya Wo Shaks
Jo Tanhai Mein Aa kar
Bas Tumhara He Naam Likha Karta Tha. 




किस बात पर रूठा है पता हो तो मनाऊँ ऐ ग़ालिब
वो रूठ तो जाता है पर शिकायत नहीं करता ।
Kis Baat Par Rootha Hai Pata Ho Toh Manau A Galib
Wo Rooth Toh Jaata Hai Par Shikayat Nahi Karta. 




टूटा हो दिल तो दुःख होता है
करके मोहब्बत ये दिल रोता है
दर्द का एहसास तो तब होता है आपको
जब किसी से मोहब्बत हो और उसके दिल में कोई और होता है ।
Tuta Ho Dil Toh Dukh Hota hai
Karke Mohabbat Ye Dil Rota Hai
dard Ka Ehsaas Toh Tab Hota Hai Aapko
Jab Kisi Se Mohabbat Ho Aur Uske Dil Mein Koi Aur Hota Hai. 




खामोशी से मिल रही है खामोशी के जवाब
अब कैसे कहुं उन्से मेरी बात नहीं होती ।
Khamoshi Se Mil Rahi Hai Khamoshi Ke Jawab
Ab Kaise Kahun Unse Meri Baat Nahi Hoti. 



रेत पर नाम कभी लिखते नहीं,
रेत पर नाम कभी टिकते नहीं,
लोग कहते है कि हम पत्थर दिल हैं,
लेकिन पत्थरों पर लिखे नाम कभी मिटते नहीं ।
Rait Par Naam Kabhi Likhte Nahi,
Rait Par Naam Kabhi Tikte Nahi,
Log Kehte Hai Ki Hum Patthar Dil Hai,
Lekin Patharon Par Likhe Naam Kabhi Mitthe Nahi. 



आज भी कितना नादान है ये दिल समझता ही नहीं
बरसों बाद भी उन्हें देखा तो दुआ माँग बैठा ।
Aaj Bhi Kitna Nadaan Hai Yeh Dil Samajhta He Nahi
Barson Baad Bhi Unhe Dekha Toh Duwa Maang Baitha. 




तूने नफ़रत से जो देखा है तो याद आया
कितने रिश्ते तेरी ख़ातीर यूं ही तोड़ आया हूं,
कितने धुंधले हैं ये चेहरे जिन्हें अपनाया है
कितनी उजली थी वो आँखें जिन्हें छोड़ आया हूं ।
Tune Nafrat Se Jo Dekha Hai Toh Yaad Aaya
Kitne Rishte Teri Khatir Yun He Tod Aaya Hun,
Kitne Dhundle Hai Yeh Chehre Jinhe Apnaya Hai
Kitni Ujli Thi Wo Aankhe Jinhe Chod Aaya Hun. 




काश वो समझते इस दिल की तड़प को,
तो यूँ हमें रुसवा ना किया होता,
उनकी ये बेरुखी भी मंज़ूर थी हमें,
बस एक बार हमें समझ लिया होता ।
Kaash Wo Samajhte Iss Dil Ki Tadap Ko,
Toh Yun Hame Ruswa Na Kiya Hota,
Unki Yeh Berukhi Bhi Manzoor Thi Hame,
Bas EK Baar Hame Samajh Liya Hota. 




कभी कुछ रिश्ते इस कदर घायल कर देते है
कि अपना ही घर लौट आना मुश्किल हो जाता है ।
Kabhi Kuch Rishte Iss Kadar Ghayal Kar Dete Hai
Ki Apna He Ghar Laut Aana Mushkil Ho Jata Hai.




वफ़ा पर हमने घर लुटाया था लेकीन
वफ़ा लौट गयी लुटाने से पहले,
चिराग तमन्ना का जला तो दिया था
मगर बुझ गया जगमगाने से पहले ।
Wafa Par Hamne Ghar Lutaya Tha Lekin
Wafa Laut Gayi Lutane Se Pehle,
Chiraag Tamanna Ka Jala Toh Diya Tha
Magar Bujh Gaya Jagmagane Se Pehle.