Best Of Attitude Shayari 2019





हमें अगर महसूस करना हो तो खुशबू की तरह करो
हम कोई भीड कि शोर नहीं जो सुनाई देंगें ।
Hume Agar Mehsus Karna Ho Toh Khusboo Ki Tarha Karo
Hum Koi Bhid Ki Shor Nahi Jo Sunai Denge.




तूफ़ान भी आना ज़रूरी है ज़िन्दगी में
तभी तो पता चलता है कि
कौन हाथ छुड़ा कर भागता है और कौन हाथ पकड़ कर ।
Toofan Bhi Aana Zaroori Hai Zindagi Mein
Tabhi Toh Pata Chalta Hai Ki
Kaun Haanth Chuda Kar Bhagta Hai Aur Kaun Haanth Pakad Kar. 




अपने हसीन होठों को परदे में छुपा लिया करो
हम गुस्ताख़ लोग है नज़रों से चुम लिया करते हैं ।
Apne Hasin Honthon Ko Parde Mein Chupa Liya Karo
Hum Gustakh Log Hai Nazron Se Chum Liya Karte Hai. 




कभी वक्त मिले तो रखना कदम मेरे दिल के आगंन में
हैरान रेह जाओगे मेरे दिल में अपना मुकाम देखकर ।
Kabhi Waqt Mile Toh Rakhna Kadam Mere Dil Ke Aangan Mein
Hairaan Reh Jaaoge Mere Dil Mein Apna Mukaam Dekhkar. 




मैंने समंदर से सीखा है जीने का सलीका
चुपचाप से बेहना और अपनी मौज में रेहना ।
Maine Samandar Se Sikha Hai Jine Ka Salika
Chupchap Se Behna Aur Apni Mauj Mein Rehna. 




मैं एक खुली किताब कि तरह हुं
फिर भी लोगों की समझ से बाहर हुं ।
Main EK Khuli Kitaab Ki Tarha Hoon
Phir Bhi Logon Ki Samjh Se Bahar Hoon. 




जिनकी हंसी प्यारी होती है
उनके ज़ख्म काफी गेहरे होते हैं ।
Jinki Haansi Pyaari Hoti Hai
Unke Zakham Kaafi Gehre Hote Hai. 




तेरी मोहब्बत को कभी हमने खेल नहीं समझा
अगर खेल समझते तो कभी हारने की नौबत नहीं आती ।
Teri Mohabbat Ko Kabhi Humne Khel Nahi Samjha
Agar Khel Samajhte Toh Kabhi Haarne Ki Naubat Nahi Aati. 




हम क्यों गम करें
अगर वो हमे ना मिले,
अरे गम तो वो करें
जिसे हम ना मिले ।
Hum Kyun Gam Karen
Agar Wo Hume Na Mile,
Aare Gam Toh Wo Kare
Jise Hum Na Mile. 




इसी बात से लगा लेना मेरी शोहरत का अंदाजा
जिन्हें तू सलाम करता है वो हमें सलाम करते हैं ।
Issi Baat Se Laga Lena Meri Shohrat Ka Andaza
Jinhe Tu Salaam Karta Hai Wo Hume Salaam Karte Hai.


ATTITUDE SHAYARI APNE SHEHRON MEIN
Best Of Attitude Shayari 2019





उससे अब क्या शिकायत करूं
बनती तो आज कल मेरी खुद से भी नहीं हैं ।
Usse Ab Kya Shikayat Karoon
Banti Toh Aaj Kal Meri Khud Se Bhi Nahi Hai.




जलने वालों की दूआवों से ही सारी बरकत हैं
वरना अपना कहने वाले तो याद भी नहीं करते ।
Jalne Waalon Ki Duwaaon Se He Saari Barkat Hai
Warna Apna Kehne Waale Toh Yaad Nahi Karte. 




वक्त आने पर करवा देंगें हदों का एहसास
कुछ तालाब खुद को समन्दर समझ बैठे हैं ।
Waqt Aane Par Karwa Denge Hadoon Ka Ehsaas
Kuch Talab Khud Ko Samadar Samajh Baithe Hai. 




जैसा भी हूं अच्छा या बुरा अपने लिए हूं
मैं खुद को नहीं देखता औरों की नज़रों से ।
Jaisa Bhi Hoon Achcha Ya Bura Apne Liye Hoon
Main Khud Ko Nahi Dekhta Auron Ki Nazron Se. 




बेमतलब की दुनिया का किस्सा खत्म
अब जैसी दुनिया वैसे हम ।
Bematlab Ki Duniya Ka Kissa Khatam
Ab Jaisi Duniya Waise Hum. 




ये ना पूछ करो की ज़िन्दगी खुशी कब देती है
क्योंकि शिकायतें तो उन्हें भी हैं जिन्हें ज़िन्दगी सब देती है ।
Yeh Na Puch Ki Zindagi Khusi Kab Deti Hai
Kyunki Shikayat Toh Unhe Bhi Hai Jinhe Zindagi Sab Deti Hai. 




मैंने सफाईयाँ देना छोड़ दिया है
सीधी सी बात है अब बहुत बुरा हूँ मैं ।
Maine Safaiyan Dena Chod Diya Hai
Sidhi Si Baat Hai Ab Bahut Bura Hoon Main.




इतना भी गुमान ना कर अपनी जीत पर ऐ बेखबर
शेहर में तेरे जीत से ज़्यादा चर्चे तो मेरी हार के हैं ।
Itna Bhi Guman Na Kar Apni Jeet Par A Bekhabar
Shehar Mein Tere Jeet Se Zayada Charche Toh Meri Haar Ke Hai. 




ना मैं गिरा और ना मेरी उम्मीदों के मीनारें गिरी
पर कुछ लोग मुझे गिराने में कई बार गिरे ।
Na Main Gira Aur Na Meri Ummidon Ke Minare Giri
Par Kuch Log Mujhe Girane Mein Kai Baar Gire. 




हर किसी के नाम पर धड़कने रूका नहीं करती
धड़कन के भी अपने कुछ उसूल होते हैं ।
Har Kisi Ke Naam Par Dhadkane Ruka Nahi Karti
Dhadkan Ke Bhi Apne Kuch Usool Hote Hai.