Best Collection Of Attitude Shayari


Best Collection Of Attitude Shayari




हमारी रगों में वो खून दोड़ता है
जिसकी एक बूंद अगर तेज़ाब पर गिर जाए तो वो भी जल जाए ।
Hamari Ragon Mein WO Khun Daudta Hai
Jiski Ek Boond Agar Tezab Par Gir Jaye Toh Wo Bhi Jal Jaye.




हर किसी को मैं खुश रख सकूं वो सलीका मुझे नहीं आता
जो मैं नहीं हूँ वो दिखने का तरीका मुझे नहीं आता ।
Har Kisi Ko Main Khush Rakh Sakun WO Salika Mujhe Nahi Aata
Jo Main Nahi Hoon Wo Dikhne Ka Tarika Mujhe Nahi Aata. 




मिजाज़ में थोड़ी सख्ती लाज़मीं हैं हुज़ूर
लोग पी जाते समंदर भी अगर खारा ना होता ।
Mijaz Mein Thodi Sakhti Laazmi Hai Huzur
Log Pe Jaate Samandar Bhi Agar Khara Na Hota. 




मोहब्बत तो अब भी बेशुमार करते हैं
बस अब तुम्हे पाने की तमन्ना नहीं हैं ।
Mohabbat Toh Ab Bhi Beshumar Karte Hai
Bas Ab Tumhe Paane Ki Tamanna Nahi Hai. 




वाकिफ़ तो मैं भी हूं कामयाबी के तौर तरीकों से
पर ज़िद तो अपने उसूलों पर जीने की है ।
Waaqif Toh Main Bhi Hoon Kamayabi Ke Taur Tarikon Se
Par Zid Toh Apne Usoolon Par Jine Ki Hai. 




हक़ से दो तो तुम्हारी नफरत भी कूबूल हैं हमें
खैरात में तो हम तुम्हारी मोहब्बत भी ना लें ।
Haq Se Do Toh Tumhari Nafrat Bhi Kubool Hai Hume
Khairat Mein Toh Hum Tumhari Mohabbat Bhi Na Le. 




थोड़ी सी खुद्दारी भी ज़रूरी थी दोस्तों
उसने हाथ छुड़ाया तो हमने भी छोड़ दिया ।
Thodi Si Khuddari Bhi Zaroori Thi Doston
Usne Haanth Chudaya Toh Humne Bhi Chod Diya.




जीतने का मजा भी तब ही आता है
जब सभी आपके हारने का इंतज़ार कर रहे हो ।
Jitne Ka Maja Bhi Tab He Aata Hai
Jab Sabhi Aapke Haarne Ka Intazaar Kar Rahe Ho. 




वक्त ही तो है बदल जाएगा
आज तेरा है तो कल मेरा होगा ।
Waqt He Toh Hai Badal Jayega
Aaj Tera Hai Toh Kal Mera Hoga. 




जिसे मेरा हाथ पकड़ना चाहिए था
वो मेरी गलती पकड़ बैठे हैं ।
Jise Mera Haanth Pakadna Chaiye Tha
Wo Meri Galti Pakad Baithe Hai. 




आँँख उठा कर भी ना देखुं
जिस्से मेरा दिल ना मिले,
जबरन सबसे हाथ मिलाना​
मेरे बस कि बात नहीं ।
Aankh uthakar Bhi Na Dekhoon,
Jisse Mera Dil Na Mile,
Zabran Sabse Haath Milana,
Mere Bas Ki Baat Nahi. 




खून अब भी वही है ना ही शोक बदले हैं ना ही जूनून
सून लो एक बात रियासते गयीं है
रूतबा नहीं रौब और खौफ आज भी वही है ।
Khoon Ab Bhi Wahi Hai Na He Shauk Badle Hai Na He Junoon
Sun Lo Ek Baat Riyasate Gayi Hai
Rutba Nahi Raub Aur Kahuf Aaj Bhi Wahi Hai. 




गुलामीं तो सिफॆ तेरे इश्क़ की है वरना
ये दिल कल भी बादशाह था और आज भी है ।
Gulami Toh Sirf Tere Ishq Ki Hai Warna
Yeh Dil Kal Bhi Badshah Tha Aur Aaj Bhi Hai. 




अपने वजूद पर इतना ना इतरा ए ज़िन्दगी
वो तो मौत है जो तुझे मोहलत देती जा रही है ।
Apne Wajood Par Itna Na Itra A Zindagi
Wo Toh Maut Hai Jo Tujhe Mohlat Deti Ja Rahi Hai. 




रूठा हुआ है मुझसे इस बात पर ज़माना
कि शामिल नहीं है फ़ितरत में मेरे सर झुकाना ।
Rootha Huwa Hai Mujhse Iss Baat Par Zamana
Ki Shamil Nahi Hai Fitrat Mein Mere Sir Jhukana. 




हम दिल के बादशाह हैं
जो सुनते भी दिल की हैं
और करते भी दिल की हैं ।
Hum Dil Ke Badshah Hai
Jo Sunte Bhi Dil Ki Hai
Aur Karte Bhi Dil Ki Hai. 




तेरी मोहब्बत की चाह थी इसलिए हाथ फैला दिए
वरना हमने तो अपनी ज़िन्दगी की दुआ भी ना मांगी ।
Teri Mohabbat Ki Chah Thi Isliye Haanth Faila Diye
Warna Humne Toh Apni Zindagi Ki Duwa Bhi Na Maangi. 




तुम्हें ही लड़ना होगा अपने हक़ के लिए यहाँ सब से
मैं तो ज्यादा से ज्यादा उम्मीद का दिया जला सकता हूँ ।
Tumhe He Ladna Hoga Apne Haq Ke Liye Yahan Sab Se
Main Toh Jayada Se Jayada Ummid Ka Diya Jala Sakta Hoon. 




ज़मीं पर रेह कर आसमान छूने की फितरत है मेरी
पर गिरा कर किसी को उपर उठने का शौक नहीं मुझे ।
Zammi Par Reh Kar Asmaan Choone Ki Fitrat Hai Meri
Par Gira Kar Kisi Ko Upar Uthane Ka Shauk Nahi Mujhe. 




परख ना सकोगे ऐसी शक्शीयत है मेरी
मैं ऊन्हि के लिए हूं जो जाने कदर मेरी ।
Parakh Na Sakoge Aisi Shaksiyat Hai Meri,
Main Unhi Ke Liye Hoon Jo Jaane Kadar Meri.